homeopathic medicine for skin,foot,nail,ear fungal infection in hindi

दाद को जड़ से खत्म करने की दवा homeopathic, होम्योपैथी (होम्योपैथिक) मेडिसिन से फंगल इन्फेक्शन का इलाज व उपचार। फंगल इंफेक्शन आज के समय में एक बहुत बड़ी समस्या बनती जा रही है कारण लोगों की भागदौड़ भरी जिंदगी और अपने शरीर के प्रति जागरूकता ना होना ,गलत खान-पान।

खराब लाइफ स्टाइल इसके बहुत से और मुख्य कारण हो सकते हैं ज्यादा गर्मी में काम करना शरीर की साफ-सफाई ना रखना कुछ ऐसे मुख्य कारण होते हैं जो फंगल इन्फेक्शन होने देते हैं 

फंगल इंफेक्शन में बहुत खुजली होती है और व्यक्ति परेशान हो जाता है फंगल इंफेक्शन का होम्योपैथी में बहुत ही अच्छा इलाज है जो इस रोग को जड़ से समाप्त करता है 

एलोपैथी में दाद खाज को ठीक तो कर दिया जाता है मगर उसके कुछ साइड इफेक्ट भी होते हैं पर होम्योपैथी में साइड इफेक्ट की कोई ऐसी बात नहीं क्योंकि होम्योपैथी भयंकर से भयंकर दाद खाज के रोग को जड़ से समाप्त करती है और फंगल  जड़ से समाप्त हो जाता है

 दाद खाज होने का मुख्य कारण क्या है?

दाद एक प्रकार का कवक होता है जो शरीर में बाहर से कपड़ों के माध्यम से तोलिए के माध्यम से या फिर किसी और अन्य वस्तु के माध्यम से आपके शरीर में जब लग जाता है तो यह आपके शरीर में रोग उत्पन्न करता है 

यह किसी जानवर से भी आपको लग सकता है दाद खाज का एक मुख्य कारण और भी है जब हमारे शरीर में खराब बैक्टीरिया ज्यादा मात्रा हो जाते हैं और अच्छे बैक्टीरिया का समाप्त हो जाते हैं तो, बॉडी  मे बडी मात्रा कैंडीडा अलबीकंस की संख्या में वृद्धि हो जाती है और इनकी संख्या में वृद्धि होने से दाद रोग उत्पन्न होता है

 जो लोग ज्यादा देर गर्मी में काम करते हैं उन्हें पसीना आता है और इस पसीने के कारण भी फंगल इंफेक्शन की समस्या होने के चांस बढ़ जाते हैं कुछ लोगों की इम्यूनिटी अर्थात प्रतिरोधक क्षमता इतनी कमजोर हो जाती है कि उन्हें फंगल इन्फेक्शन कि समस्या हो जाती है और वह इस बीमारी की चपेट में आ जाते हैं 

अब तक हमने दाद के मुख्य कारणों के बारे में बात की  कि होम्योपैथी मैंने कौन-कौन सी दवाई है जो फंगल इन्फेक्शन को पूर्ण रूप से ठीक करने में सक्षम है

चर्म रोग की होम्योपैथिक दवा

होम्योपैथिक दवा में  दवा कॉन्बिनेशन में भी आती हैं और  सिंगल डोज में भी आती हैं सिंगल डोज वाली दवाई जिस नाम से आती हैं वे है जैसे सीपिया सल्फर, टेल्लूरियम, पेट्रोलियम इसी तरह की और भी बहुत सारी दवाएं हैं जो फंगल इंफेक्शन चर्म रोग में बहुत ही महत्वपूर्ण दवाई है।  

R82 homeopathy medicine for fungle infection

रेगवेग R82 एक बढ़िया दवा है और R82 इस सभी दवाइयों का मिश्रण होता है R82 एक जर्मन मेडिसन है जो दाद के सभी प्रकार को ठीक करती है। जैसे जोक इच, खुजली, एथलीट फुट यह दवा एक ऐसी दवा होती है जिसमें कई प्रकार की होम्योपैथिक दवा मिली होती हैं इसमें आपको सल्फर, पेट्रोलियम इस तरह की सभी दवाई मिल जाती हैं

 अगर आपको लगातार चर्म रोग दाद की समस्या रहती है तो आप R82 दवाई का प्रयोग जरूर करें इस दवा को प्रयोग करने से आपकी सभी तरह के चर्म रोगों की समस्याएं नष्ट हो जाती हैं इसको लेने का भी तरीका बहुत सरल है इसको दिन में तीन बार एक कप पानी में 10 से 15 बूंदी मिलाकर खाली पेट लेना होता हैं इसके एक घंटा पहले और  एक घंटा बाद तक आपको कुछ भी नहीं खाना होता है अगर आप इस होम्योपैथिक दवा का उपयोग  चर्म रोग के इलाज में करते हैं और कोई बाहरी क्रीम भी इस्तेमाल करते हैं तो आपका फंगल इन्फेक्शन जल्दी ठीक हो जाता है  अर्थात चर्म रोग जल्दी ठीक हो जाता है इसलिए अगर आप चरम रोग से ग्रसित रहते हैं तो आपको होम्योपैथिक उपचार को जरूर अपनाना चाहिए

Sepia homeopathy medicine for skin fungal infection in hindi

दाद खाज के इलाज में सीपिया एक बहुत ही अच्छी और एक्टिव मेडिसन मानी जाती है यह दाद खाज को जड़ से समाप्त कर देती है इस दवा की एक और अच्छी बात यह है कि या स्केबीज के द्वारा होने वाली खुजली जो की अक्सर जोड़ों पर होती है उसे पूर्ण रूप से समाप्त कर देती है क्योंकि कभी-कभी माइट के कारण होने वाली खुजली को फंगल इंफेक्शन की खुजली समझ लिया जाता है जोकि बिल्कुल गलत है

सीपिया स्केबीज और फंगल दोनों को ही समाप्त करती है 

Thuja homeopathy medicine for skin fungal infection in hindi

Thuja होम्योपैथी में एक ऐसी मेडिसन जो दाढ़ी मैं होने वाली खुजली दाद खाज को समाप्त करती है

 Graphites homeopathy medicine for  fungal infection privat parts male and female in hindi

 ग्रैफाइटिस शरीर में होने वाली जोक खुजली को खत्म करती है यह जननांगों के बीच होने वाली खुजली को ठीक कर देती है जो कि कैंडिडा एलबिकंस को के कारण होती है

Tellurium homeopathy medicine for skin fungal infection in hindi

शरीर के किसी भी हिस्से पर होने वाली दाद खाज खुजली अच्छे से समाप्त कर दी है

, होम्योपैथी की कुछ और अच्छी दवाई कुछ अन्य खास दवा

Sulpher

Arsenic album

Acid chryso

petroleum 

Homeopathy medicine में सावधानियां

होम्योपैथी चिकित्सा में मेडिसन जल्दी से रोग को ठीक नहीं करती है। इससे थोड़ा ज्यादा समय लगता है। इन दवाओं को लेते समय कुछ चीजो का परहेज रखना होता है। खाना सादा खाना चाहिए जयादा जंक फूड्स खाने से भी बचना चाहिए नहीं तो दवा असर कम करेगी। 


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ