एक्जिमा की दवा पतंजलि,सूखा(ड्राई) तीव्र एक्जिमा का अचूक आयुर्वेदिक इलाज व घरेलू उपचार

सूखा एक्जिमा की दवा पतंजलि(ekjima ka ilaj in hindi) एक्जिमा चर्म रोग क्या है  पूरी दुनिया में लोगों के जीवन को प्रभावित करने वाला एक चरम रोग जिसने व्यक्ति के स्वास्थ्य को बहुत प्रभावित किया है ऐसी स्थिति जिसमें त्वचा पर काफी  तीव्र खुजली वाले पेच बन जाते हैं रोगी को काफी खुजली होती है और खुजली की स्थिति में व्यक्ति काफी परेशान हो जाता है  का अभी तक इसका कोई इलाज नही है 

और ना ही कोई मुख्य कारण जिससे यह पता चले कि यह है होता क्यों है आज ऐसे ही कारणों के बारे में जानेंगे और देखेंगे कि  यह कैसे होता है  इस पोस्ट में यह जानेंगे की एग्जिमा क्या है और  इसका निवारण क्या है 

सूखा एक्जिमा का आयुर्वेदिक इलाज व घरेलू उपचार


सूखा एक्जिमा का आयुर्वेदिक इलाज व घरेलू उपचार 

एक्जिमा क्या है(what is eczema)

एक्जिमा कितने प्रकार के होते हैं(how many types eczema) 

एक्जिमा के लक्षण (symptoms of eczema)

एग्जिमा का कारण क्या है(what causes 

एग्जिमा से निदान के उपाय

एक्जिमा का आयुर्वेदिक घरेलू उपचार व इलाज

एक्जिमा के बारे पुछे जाने वाले सवाल-जवाब

एक्जिमा क्या है(what is eczema)

एक्जिमा एक बीमारी जो त्वचा से संबंधित है इस बीमारी को कई नाम से जाना जाता है इस बीमारी को एटोपिक डर्मेटाइटिस या डर्मेटाइटिस या जिल्द की सूजन या त्वचाशोथ भी कहा जाता है और इसे सूखा एक्जिमा भी कहा जाता है।

 एक्जिमा के लक्षण (symptoms of eczema)

 इस रोग में जलन में खुजली होती है शरीर पर चकत्ते पड़ जाते हैं जलन होती है रोगी को काफी परेशानी होती है कई बार त्वचा रोगों में इतनी ज्यादा खुजली होती है कि दर्द ऐसे नहीं हो जाता है और यहां तक की , ज्यादा खुजली करने पर खून तक निकलने लगता है 

कभी-कभी दाद और एक्जिमा को एक ही समझ लिया जाता है मगर यह दोनों अलग और इनका इलाज भी थोड़ा लगते कैसे किया जाता है फंगल इन्फेक्शन का इलाज है मगर एक्जिमा का कोई इलाज नहीं है इसीलिए कभी-कभी आदमी एक्जिमा को फंगल समझ बैठता है और इसका गलत उपचार करता रहता है जिसका कारण रोग और ज्यादा बदतर हो जाता है

एक्जिमा कितने प्रकार के होते हैं(how many types eczema)

एक्जिमा के कई प्रकार होते हैं इनमें से कुछ मुख्य  

एटोपिक एक्जिमा (atopic eczema)

डिस्कोइड एक्जिमा (discoid eczema)

संपर्क एक्जिमा (contact eczema)

वैरिकाज़ एक्जिमा (varicose eczema)

सेबोरहाइक एक्जिमा ( seborrheic eczema)

डिशिड्रोटिक एक्जिमा (dyshidrotic eczema)

एटोपिक एक्जिमा एक्जिमा का सबसे सबसे आम रूप है अक्सर यह लोगों को बचपन में हो जाता है

डिस्कोइड एक्जिमा - एक्जिमा जो त्वचा पर गोलाकार पैच के रुप में होता है

संपर्क जिल्द की सूजन - एक्जिमा यह तब होता है जब शरीर किसी विशेष पदार्थ के संपर्क में आता है

वैरिकाज़ एक्जिमा - एक्जिमा जो अक्सर निचले पैरों को प्रभावित करता है और पैर की नसों के माध्यम से रक्त के प्रवाह में समस्याओं के कारण होता है

सेबोरहाइक एक्जिमा - एक प्रकार का एक्जिमा जिसमें नाक, कान और खोपड़ी के किनारों पर लाल, पैच विकसित होते हैं

डिशिड्रोटिक एक्जिमा - एक प्रकार का एक्जिमा जिसके कारण हाथों की हथेलियों में छोटे-छोटे फोले से हो जाते है

एग्जिमा का कारण क्या है(what causes eczema) साबुन ,डिटर्जेंंट ,धूल ,अनुवांशिक कारण, पर्यावरण वातावरण ,ठंड ,ऊनी कपड़े ,दवाई ,इम्यून सिस्टम की खराब आदि

 एग्जिमा का अभी तक कोई भी ज्ञात कारण नहीं मालूम हुआ है मगर इसके कुछ कारण हो सकते हैं जो इस रोक को बढ़ावा देते हैं और जिसके कारण रोग होता है 

बदलते मौसम के कारण बॉडी में प्रतिक्रिया होने लगती है जिसके कारण व्यक्ति का इम्यून सिस्टम प्रतिरक्षा तंत्र विपरीत प्रतिक्रिया करने लगता है जिसके कारण व्यक्ति में एक्जिमा के लक्षण पैदा हो सकते हैं 

बार बार साबुन से हाथ धोना डिटेंशन साबुन का प्रयोग करना किसी शैंपू वगैरह से नहाना इस तरह की घटनाएं भी डर्मेटाइटिस को जन्म देती है

ऐसे कपड़े पहनना जिसके कारण शरीर , विपरीत प्रतिक्रिया करने लगता है यह किसी भी तरह का कपड़ा हो सकता है जो आपके शरीर के लिए अच्छा ना हो और जिस कारण आपका शरीर विपरीत प्रतिक्रिया करने लगता है जो एक एलर्जी का सामान्य लक्षण है और इस कारण एग्जिमा हो सकता है

डेरी प्रोडक्ट को यूज करना जो शरीर में एलर्जी का कारण बनते हैं इसमें बहुत से खाद पदार्थ हो सकते हैं जैसे मूंगफली चावल बिस्कुट कोई भी तरह का प्रोडक्ट हो सकता है यह निर्भर करता है व्यक्ति पर क्योंकि सभी का शरीर अलग-अलग प्रतिक्रिया करता है सभी प्रोडक्ट के प्रति

विभिन्न प्रकार के त्वचा रोग में यूज की जाने वाली दवाइयां के प्रति प्रतिरक्षा तंत्र विपरीत प्रतिक्रिया करता है इसी कारण एग्जिमा रोग हो सकता है

अत्यधिक भीड़ भाड़ वाले इलाके में रहना ज्यादा गर्मी पसीने में काम करते रहना एक्जिमा का कारण हो सकता है 

आयुर्वेद के अनुसार ऐसे रोगो के होने खान -पान का बहुत महत्व है आयुर्वेद कहता है कि अगर उनके शरीर में वात पित्त कफ तीनों का असंतुलन हो जाए तो विभिन्न प्रकार के रोग जन्म ले लेते हैं और उन्हीं में से एक एक्जिमा जो गलत खानपान और वात पित्त कफ दोष के बिगड़ने के कारण उत्पन्न होता है 

आयुर्वेद के अनुसार बहुत से खानपान का ध्यान समय के अनुसार अगर खानपान ना किया जाए तो शरीर में बहुत सारे रोग उत्पन्न हो जाते हैं एक उदाहरण के तौर पर दूध के साथ नमक का प्रयोग करने से बहुत से इंफेक्शन हो जाते हैं और यही कारण है कि एक्जिमा भी इसी तरह के गलत खानपान की वजह से ही जन्म लेता है

एग्जिमा से निदान के लिए उपाय (Remedies for Diagnosing Eczema)

जैसा कि हमने पहले भी आपको बताया कि एक्जिमा का अभी तक कोई भी इलाज नहीं है इसकी रोग की सिर्फ रोकथाम की जा सकती है और यही इसका एक सफल इलाज है रोग को ठीक करने में

खानपान का बहुत बड़ा महत्व है क्योंकि गलत खानपान की वजह से खुजली और ज्यादा बढ़ जाती है जिससे रोग और भंयकर हो सकता है कुछ तो दवाओं के साथ इसका इलाज करना ज्यादा ठीक होता है और अगर इसका सही से परहेज करके इलाज किया जाए तो बहुत जल्दी ठीक हो जाता है , क्योंकि इसका कोई इलाज नहीं है इसलिए बचाव ही इसका उपचार है

 खान -पान

मार्केट में मिलने वाली डब्बा बंद पदार्थ को नहीं खाना चाहिए अगर इससे आपको परेशानी होती है

कोल्ड ड्रिंक सेवन नहीं करना चाहिए

खट्टे अचार जिसे नींबू का अचार,आम का अचार नहीं खाना चाहिए बचना चाहिए

ज्यादा नमक मिर्च मसाले वाले भोजन से भी बचना चाहिए

दही अगर खट्टी है तो खाने से परहेज करें जब तक ठीक न हो जाए इसका सेवन न करें , 

चाय कॉफी को कम करना

शरीर में उत्तेजना पैदा करने वाले पेय पदार्थों से भी बचना चाहिए जैसे कि चाय, कॉफी आदि

खुजली वाले हिस्से पर नारियल का तेल की मालिश करें इसे इससे खुजली में बहुत ज्यादा राहत होगी, 

साबुन का प्रयोग

साबुन का प्रयोग बिल्कुल बंद करें क्योंकि साबुन एग्जिमा को और ज्यादा बढ़ा सकते हैं जो और ज्यादा खुजली का कारण बन सकते हैं 

एक्जिमा के लिए बेस्ट क्रम

ज्यादा खुजली होने पर स्टेरॉइड क्रीम का भी यूज किया जा सकता है डॉक्टर की सलाह से स्टेरॉइड क्रीम का यूज़ खुजली को कम करने के लिए किया जा सकता है मगर इसका इस्तेमाल कितने दिनों करना है यह आपको आपकी डॉक्टर आपको बताएगा स्टेरॉइड क्रीम एग्जिमा में होने वाली जलन और खुजली को कम कर सकती है

 नहाने का पानी  

नहाने के लिए गर्म पानी का यूज़ नहीं करना चाहिए जहां तक संभव हो गुनगुने पानी में स्नान करना चाहिए स्नान के बाद शरीर को मोस्चराइज जरूर करें जिससे खुजली कम से कम हो और अगर खुजली हो तो उसे खुजला नहीं चाहिए।

डेयरी उत्पाद 

डेयरी उत्पाद को अपने भोजन में कम से कम शामिल करें खासकर गाय का दूध गाय का दूध आपके एग्जिमा को और ज्यादा बत्तर बना सकता है इसलिए गाय के दूध को बंद करें आप भेड़ बकरी भैंस का दूध यूज कर सकते हैं

अगर एग्जिमा की समस्या सामने आ रही है तो आप अवलोकन करें कि आपने पिछले कुछ समय से किन किन गतिविधियोंको किया है आपने क्या अलग खान-पान क्या है जिसके कारण एग्जिमा हुआ है

एक्जिमा का आयुर्वेदिक घरेलू उपाचार व इलाज (Ayurvedic Home Remedies and Treatments for Eczema)

एक्जिमा में बर्फ का  प्रयोग

एक्जिमा में खुजली होने पर थोड़ा सा बर्फ ले और उस बर्फ से खुजली वाले स्थान पर धीरे-धीरे  लगायेंगे जिससे  खुजली थोडी कम जायेगी  यह एकदम सरल घरेलू उपचार है इसके लिए किसी भागदौड़ की जरूरत नहीं पड़ती और ना ही पैसा खर्च करने की जरूरत पड़ती है एकदम आसान और सुरक्षित तरीका


एक्जिमा में नारियल तेल का प्रयोग

नारियल का तेल फंगस को तो मारता ही है इसके साथ ही नारियल तेल  एक्जिमा पर भी बहुत अच्छा काम करता है इसे अच्छे से यूज करने पर खाज खुजली जलन में बहुत आराम मिलता है इसलिए आप दिन में तीन से चार बार नारियल तेल का यूज करें

एक्जिमा के बारे में सवाल जवाब

क्या एक्जिमा  संक्रामक बीमारी है
नहीं
एक्जिमा की कोई अच्छी दवा है

 अभी तक इसकी कोई अच्छी दवाई नहीं है लक्षण के आधार पर कुछ दवाओं से इलाज किया जाता है

एग्जिमा कितने दिन में ठीक हो सकता है
 जल्दी से ठीक नहीं होता इसका इलाज लंबा होता है



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ