दाद की दवा,दाद होने पर क्या क्या नहीं खाना चाहिए

  दाद खाज में क्या खाएं और क्या ना खाएं आज हम आपको इसी बारे में बताएंगे क्योंकि फंगल इंफेक्शन हो या फिर एग्जिमा या सोरायसिस त्वचा संबंधी बीमारियों में जिनमें आपको खुजली होती हो उनमें आपको खाने का विशेष ध्यान रखना पड़ता है

दाद होने पर क्या क्या नहीं खाना चाहिए

  दाद होने पर अगर आप अपने खान-पान का ध्यान नहीं रखते है तो  आप अच्छी से अच्छी दवाई खाएं या क्रीम लगाएं  मगर जब तक आप परहेज नहीं करेंगे तब तक आप सही नहीं होंगे 

और इस बात का आपको खुजली में ही नहीं अन्य बीमारियों में भी ध्यान रखना होता है मगर खुजली में ही क्यों, क्योंकि खुजली इतनी तेजी से होती हैं कि व्यक्ति ना तो चैन से सो पाता है और ना ही चैन से बैठ पाता है और उसका किसी काम में मन भी नहीं लगता है

हमारा रक्त क्षारीय होता है और हमें  ज्यादा से ज्यादा क्षारीय भोजन ही करना चाहिए अगर हमारा रक्त अम्लीय हो गया तो खुजली कि समस्या होने लगती है यह खुजली का एक सबसे बड़ा कारण है

 सबसे पहले हम बात करेंगे कि त्वचा संबंधी बीमारियों  में खानपान कैसा हो

 दाद हो जाए तो क्या खाएं 

दाद में प्रोटीन युक्त खाना खाना चाहिए अगर आपको  फंगल इन्फेक्शन  से छुटकारा पाना है क्योंकि फंगस का मुख्य भोजन मीठा और वसायुक्त खाद्य पदार्थ होता है। इसलिए अपने भोजन में  दाल शामिल जरूर करें

दाद (Ringworm) में कौन सा फल (fruets) खायें 

 हमें ऐसे फल खाने चाहिए जो अच्छे हो और पौष्टिक हो जैसे केला,सेब, बाकि फल मौसम के अनुसार खाये केला और सेब , वर्षभर बाजार में मिलते हैं इसलिए इनको प्राप्त करना बड़ा आसान  है

दाद होने पर क्या खाएं

दाद में खाने वाली सब्ज़ियां (vagitable)

सब्जियों में आप हरी पत्तेदार सब्जियों का ज्यादा से ज्यादा सेवन कर सकते हैं जैसे मूली पालक गाजर गोभी आलू।

सलाद के रूप में आप खीरा,मूली गाजर को ले सकते है ध्यान रहे मूली ज्यादा तीखी ना हो।

  दाद खाज खुजली होने पर क्या नहीं खाना चाहिए

दाद होने पर कौन से फल (fruets) नहीं, खाने चाहिए

दाद खाज होने पर या त्वचा(skin) समस्या होने पर हमें ऐसे फल नहीं, खाने चाहिए जो ज्यादा खट्टे  हो जैसे कि नींबू संतरा, कच्चा आम, आंवला 

दाद होने पर कौन  सी सब्जियां (vagitable) न खाएं

कुछ लोग अंडा मांस मछली को सब्जी के रूप में प्रयोग करते हैं आपको इस तरह की सब्जी से बचना चाहिए। अरबी, कच्चा केला,बैंगन कि सब्ज़ियां नहीं खानी चाहिए

सलाद के रूप में ज्यादा टमाटर ,प्याज, नींबू का इस्तेमाल ना करें

कुछ और पदार्थ जो नहीं खाने चाहिए

 बाजार में मिलने वाली डब्बा बंद पदार्थ (bisket,namkeen) को नहीं खाना चाहिए

 कोल्ड ड्रिंक सेवन नहीं करना चाहिए।  कोल्ड ड्रिंक अम्लीय होती है।

खट्टे  अचार जैसे नींबू का अचार,आम का अचार नहीं खाना चाहिए 

मीठे खाद पदार्थों से बचना चाहिए जैसे गुड़ शक्कर चीनी(sugar) रसगुल्ला बर्फी

 ज्यादा  नमक मिर्च मसाले वाले भोजन के सेवन भी बचना चाहिए

दही अगर खट्टी है तो खाने से परहेज करें जब तक दाद ठीक न हो जाए इसका सेवन न करें 

शरीर में उत्तेजना पैदा करने वाले पेय पदार्थों से भी बचना चाहिए जैसे कि चाय, कॉफी आदि 

अब तक हमने दाद खाज खुजली होने पर कौन सा भोजन खाना चाहिए और कौन सा नहीं के बारे में आपको बताया।  

अब हम इस बारे  में बात करेंगे कि अगर आप दाद कि बिमारी से  मुक्त है तो आपको कौन- कौन से फल, सब्जियां (vagitable) को अपने दैनिक भोजन में शामिल करना चाहिए जिससे दोबारा फंगल इन्फेक्शन की समस्या ना हो।

 केडिडा एक सामान्य संक्रमण है यह आपकी त्वचा, आंत व योनि में रहता हैं  इसलिए इसको रोकने के लिए कुछ ऐसे एटीफंगल फूड है । जो फंगल इन्फेक्शन को रोकने में काफी मददगार साबित हो सकते है

बेस्ट एंटी फंगल फूड इन हिंदी

लहसुन

अदरक

हल्दी

दही

लहसुन

लहसुन (garlic) में एंटी फंगल ,एंटी वायरल गुण  पाए जाते हैं केडिडा के संक्रमण को रोकने के लिए बहुत ही प्रभावी है आप आपने खाने में आवश्यकता अनुसार  प्रयोग कर सकते हैं 

अदरक

 अदरक अच्छा एंटीफंगल माना जाता है कैंडिडा अलबिकंस को रोकने में सहायक है  नियमित सेवन करने से खमीर संक्रमण नहीं होता  

 हल्दी 

हल्दी भी बहुत अच्छा एंटीफंगल होता है। फंगल इनफेक्शन को रोकने में हल्दी का सेेेवन बहुत पहले से किया जाता है। अगर आप चाहते हैं कि फंगल इन्फेक्शन  ना हो तो इसके लिए आपको हल्दी का सवन करना चाहिए। हल्दी मे कुरकुमिन पाया जाता है, जो यीस्ट को रोकने मेंं बहुत मदद करता है।

  दही

दही इसके अनेक   फायदे होते हैं दही  को एक  सुपरफूड  माना जाताा हैं  दही मे  पाया जाने वाला  lectobecilas bectiria  कैडिडा संक्रमण को रोकने मेंं मददगार होता है। और नियमित दही का सेेेवन करते रहने  से कैंडिडा संक्रमण को रोका जा सकता है।



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ