दाद से हमेशा के लिए छुटकारा कैसे पाएं

 दाद से हमेशा के लिए छुटकारा कैसे पाएं। यह बिल्कुल आसान है और दाद से हमेशा के लिए छुटकारा पाया जा सकता है इसके लिए आपको महंगी महंगी दवाइयां या बड़े कोर्स की आवश्यकता नहीं है इसके लिए आपको थोड़ी नॉलेज की जरूरत है अगर आप दाद को जड़ से समाप्त करना चाहते हैं और इससे हमेशा के लिए छुटकारा पाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको इसकी ज्यादा से ज्यादा जानकारी प्राप्त करनी होगी और उस जानकारी के आधार पर ही  आप दाद से हफ्ते भर में ही छुटकारा पा जाएंगे वह भी जीवन भर के लिए अक्सर लोगों का दाद तो दवा खाने से ठीक हो जाता है लेकिन वह दोबारा फिर से हो जाता है और इसी जानकारी के अभाव में दाद से बार- बार ग्रसित होते रहते हैं जहां तक मुझे लगता है अगर दाद से जुड़ी कुछ दवाई और क्रीम का इस्तेमाल करते हैं दाद की समस्या समाप्त हो जाती है लेकिन अगर आप चाहते हैं कि आपको दोबारा से दाद फिर ना हो तो आपको इसकी जानकारी होनी चाहिए जैसे दाद ना हो इसके कारण, यह किस प्रकार से दोबारा हो जाता है और दोबारा होता है तो क्यों होता है या अन्य रोगों की तरह जल्दी ठीक क्यों नहीं होता और यह संक्रामक रोग  क्यों होता है इस तरह के सामान्य सवाल के जवाब आपको पता होना चाहिए तभी जाकर आप दाद की समस्या से हमेशा के लिए छुटकारा पा सकते हैं

दाद से हमेशा के लिए छुटकारा कैसे पाएं

 दाद हमेशा के लिए इसलिए समाप्त नहीं होता क्योंकि जब कोई व्यक्ति कोई दवा मेडिसन या फिर क्रीम  यूज़ करता है तो उस समय जिस व्यक्ति को दाद होता है वह  बहुत हद तक  ठीक हो जाता है और उसी समय लोग लापरवाही बरतने लगते हैं अर्थात वह दवा छोड़ देते हैं या फिर अपने खानपान में परहेज नहीं बरतते और फिर दाद जो जल्दी से जल्दी ठीक होने वाला था फिर से उभरने लगता है और दोबारा जब व्यक्ति वही दवा खाता है तो फिर वह दवा उस पर इतना असर नहीं डालती और दवाई उसके लिए बेकार सी होने लगती हैं और दाद ज्यादा भयंकर रूप में सामने आ जाता है मैंने बहुत लोगों के साथ अक्सर यही प्रॉब्लम देखी कि शुरुआत में तो वह इलाज बहुत जोरों शोरों से करते हैं लेकिन जैसे-जैसे  रोग ठीक होता जाता है वह लापरवाही बरतते जाते हैं नतीजा जो दाद 1 से 2 दिन बाद  ठीक होने वाला था उसे 1 से 2 महीने लगने लगते हैं और फिर व्यक्ति बहुत ज्यादा परेशान हो जाता है और वह दाद को ठीक करने के लिए फिर न जाने किस किस तरह के इला इलाज अपनाने लगता है जो कि उसके लिए बिल्कुल भी सही नहीं होते

बिना देखे और बिना जाने दाद पर ऐसी क्रीम का प्रयोग ना करें जिसके कारण दाद ठीक ना हो जैसे स्टेरॉइड  क्रीम ऐसी क्रीम का ज्यादा प्रयोग करने से होता यह है कि दाद हमेशा के लिए ठीक तो नहीं होता बल्कि हमेशा के लिए आपके शरीर पर ही रह जाता है इन छोटी-छोटी बातों का आपको ध्यान रखना जरूरी होता है मैं यह नहीं कहता कि आप स्टेरॉइड क्रीम का यूज ना करें लेकिन अगर आप स्टेरॉइड क्रीम का यूज़ करते हैं तो आपको इसके बारे में जानकारी होनी चाहिए

अगर आप चाहते हैं कि दाद से हमेशा के लिए छुटकारा मिल जाए तो आपको अपनी प्रतिरोधक क्षमता  को निरंतर बनाए रखना होगा क्योंकि जब तक आप की प्रतिरोधक क्षमता मजबूत बनी रहेगी तब तक आप रोगों से बचे रहेंगे यह आप भी जानते हैं और जैसे ही प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होगी तो फिर आपको रोग होने की संभावना बढ़ जाती है दाद भी प्रतिरोधक क्षमता के कमजोर होने पर व्यक्ति को ग्रसित कर सकता है

को विशेष रूप से बरसात के मौसम में क्योंकि इन दिनों त्वचा रोग होने की संभावना बहुत ज्यादा बढ़ जाती है हो सके तो आप बरसात के मौसम में साधारण पाउडर या फिर खुशबू वाला पाउडर ना यूज़ करें क्योंकि इस मौसम में ऐसे पाउडर की आवश्यकता होती हैं जो त्वचा रोगों से सुरक्षा करें इस मौसम में एंटीफंगल पाउडर का  प्रयोग करें, जैसे  कैंडिड डस्टिंग पाउडर तो दाद की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है ऐसा करने से आपको दाद होने की संभावना बहुत ही कम हो जाती है और दाद ही नहीं इससे और भी तरह के इंफेक्शन नहीं होते , और ऐसा सिर्फ एक बार नहीं है जब भी बरसात का मौसम आए  आपको ऐसी सावधानियां रखनी चाहिए ।

जब भी आपको दाद की समस्या हो और आप कहीं से भी उसका इलाज कर रहे हो तो इस बात का ध्यान जरूर रखना चाहिए कि इलाज को बीच में ना छोड़े और अगर आप खुद से  किसी क्रीम, ट्यूब की मदद से इलाज कर रहे हैं तो भी आप को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि जब तक आपकी स्किन पूरी तरह से नॉर्मल स्किन की तरह ना हो जाए और उसमें किसी भी प्रकार की खुजली ना हो तब तक आप को क्रीम का प्रयोग करते रहना चाहिए और अगर इस दौरान आपने लापरवाही से क्रीम का प्रयोग बंद कर दिया तो फिर कवक के अगर कुछ कीटाणु भी रह गए तो  दोबारा प्रजनन  के माध्यम से पुनः रोग उत्पन्न कर देंगे क्योंकि दाद के कीटाणु अर्थात कवक जल्दी से नहीं मरते इसका कारण उन में पाए जाने वाली काइटीन की बनी   कोशिका भित्ति होती है जोकि प्रतिकूल वातावरण में भी उसको सुरक्षित रखती है और इसी  कारण कवक दोबारा शरीर से पोषण प्राप्त करके वृद्धि करता है और फिर शरीर में दाद का कारण बन जाता है तो इसलिए आपको इलाज को बीच में अधूरा नहीं छोड़ना चाहिए जब तक की दाद पूर्ण रूप से ठीक ना हो 

 हमने यहां पर दाद से छुटकारा पाने की जो मुख्य मुख्य बातें बताई अगर आप उन बातों को ध्यान में रखते है तो आप दाद से हमेशा के लिए छुटकारा पा जाएंगे