आदमी के प्राइवेट पार्ट में फंगल इंफेक्शन

आदमी के प्राइवेट पार्ट में फंगल इन्फेक्शन का इलाज इसके बारे में आज कुछ जानकारी आपको देंगे प्राइवेट पार्ट में फंगल इन्फेक्शन होना बहुत-बहुत सामान्य है अगर देखा जाए तो फंगल इन्फेक्शन का सबसे लोकप्रिय अगर शरीर का कोई हिस्सा है तो वह प्राइवेट पार्ट है फिर चाहे वह आदमी हो, बच्चा हो, बूढ़ा हो, स्त्री हो या फिर किसी भी उम्र का व्यक्ति हो सकता है फंगल इंफेक्शन प्राइवेट पार्ट मैं बहुत ज्यादा होता है। क्या आपने कभी सोचा है कि फंगल इंफेक्शन प्राइवेट पार्ट में ही ज्यादा क्यों होता है तो इसका कारण है इस स्थान पर  वृद्धि के लिए उचित तापमान और स्थान प्रत्येक स्त्री, पुरुष अपने प्राइवेट पार्ट को हमेशा कपड़ों से ढके रखता है इसलिए इस स्थान पर हमेशा अंधेरा रहता है और यही फंगस की वृद्धि के लिए बढ़िया स्थान होता है फंगस हमेशा अंधेरे में वृद्धि करता है और इन स्थानों पर  पर्याप्त मात्रा में प्रकाश नहीं होता इसलिए फंगस यहां पर आराम से अपनी वृद्धि कर  फंगल इंफेक्शन का कारण बनता है। इसके अलावा उसे यहां पर पर्याप्त मात्रा में नमी भी मिल जाती है यानी  नमी कई कारणों से मिल सकती है जैसे गीले कपड़े पहनने से, कुछ लोग नहाने के बाद जल्दी-जल्दी में कपड़े पहन लेते हैं जिसके कारण शरीर अच्छी तरह से नहीं सूखता और वहां पर नमी बनी रहती हैं एक अन्य कारण शरीर से निकलने वाला पसीना जो कि प्राइवेट पार्ट में नमी का कारण बनता है और प्राइवेट पार्ट में ज्यादा मात्रा में निकलता भी है इसलिए प्राइवेट पार्ट में लगातार नमी बनी रहती है। इस तरह फंगस को प्राइवेट पार्ट में उपयुक्त स्थान मिल जाता हैं अर्थात यहां पर उसे नमी, तापमान, और अंधेरा मिल जाता है जो उसके लिए बिल्कुल सही है यही वह कारण है जिसे कारण प्राइवेट पार्ट में फंगल इन्फेक्शन लगातार और बार-बार होता रहता है।

प्राइवेट पार्ट में फंगल इंफेक्शन का इलाज

अगर प्राइवेट पार्ट में फंगल इन्फेक्शन हो ही गया है तो फिर इसका इलाज भी जरूरी हो जाता है इसके लिए हमने बहुत सारी अंग्रेजी, होम्योपैथिक, और आयुर्वेदिक दवा के बारे में अपनी कई पोस्ट में  बताया है  जिन्हें आप पढ़ सकते हैं अगर आप प्राइवेट पार्ट में होने वाले फंगल इन्फेक्शन का इलाज घरेलू उपचार से करना चाहते हैं तो आप इसके साथ-साथ होम्योपैथी या अंग्रेजी दवाओं का भी सहारा जरूर ले, सिर्फ घरेलू  उपचार के भरोसे मत बैठे रहें, बहुत से रोगियों के साथ ऐसा भी देखने को मिला है कि  काफी घरेलू उपचार करने के बाद भी  उनका फंगल इन्फेक्शन  ठीक नहीं हुआ, और बाद में होम्योपैथिक दवाओं के द्वारा 1 से 2 महीने के इलाज के बाद उनका फंगल इंफेक्शन  ठीक हुआ । और ऐसा भी बहुत लोगों के साथ देखने को मिला है कि उन पर होम्योपैथिक दवाई फेल हो गई आयुर्वेदिक दवाई घरेलू उपचार भी काम नहीं आए और जिन्हें बाद में अंग्रेजी दवाओं से ठीक किया गया इलाज तीनों सही है बस कभी-कभी किसी रोगी पर कोई काम करता है और कोई काम नहीं करता, इसलिए आप  जब भी फंगल इन्फेक्शन का इलाज होम्योपैथी दवाओं के द्वारा या फिर अंग्रेजी दवाओं के द्वारा करें तो डॉक्टर की बताई गई  नियमित अवधि और परहेज के साथ जरूर करें इससे फंगल इन्फेक्शन बहुत जल्दी ठीक हो जाएगा चाहे फिर वह प्राइवेट पार्ट में हो या फिर शरीर के अन्य किसी और हिस्से पर हो।

निष्कर्ष

इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि किस तरह प्राइवेट पार्ट में फंगल इन्फेक्शन होता है और कैसे उसे रोके और कैसे उसका इलाज करें किसी भी समस्या को हल करने के लिए जानकारी ज्यादा महत्वपूर्ण होती है उम्मीद है कि यह पोस्ट आपको पसंद आई होगी अगर आपका कोई क्वेश्चन है तो कमेंट में बताएं ।