चर्म रोग की होम्योपैथिक दवा बताएं

 क्या  आप जानना चाहते हैं चर्म रोग की होम्योपैथिक दवाई कौन-कौन सी हैं अगर देखा जाए तो चर्म रोगों की होम्योपैथिक में बहुत ही आयुर्वेदिक दवाई हैं जो हम रोग को समूल नष्ट करती हैं और बिना किसी साइड इफेक्ट की होम्योपैथी में एक से बढ़कर एक दवाई उपलब्ध है जो आपके सभी प्रकार के चर्म रोग चाहे वह फंगल इनफेक्शन खाज खुजली हो एग्जिमा सोरायसिस सभी में महत्वपूर्ण योगदान करती हैं हमेशा के लिए रोग को ठीक कर देते हैं अब बात आती है 

चर्म रोग की होम्योपैथिक दवा बताएं

होम्योपैथिक दवा में कुछ कॉन्बिनेशन में आती हैं और कुछ दवाई सिंगल डोज में आती हैं सिंगल डोज वाली दवाई जिस नाम से आती हैं जैसे सीपियां सल्फर टेल्लूरियम पेट्रोलियम इसी तरह की और भी बहुत सारी दवाएं हैं जो फंगल इंफेक्शन चर्म रोग में बहुत ही महत्वपूर्ण दवाई है और इनसे भी अच्छी दवाई डॉक्टर  रेगवेग R82 एक बढ़िया दवा है और R82 इस सभी दवाइयों का मिश्रण होता है यह दवा एक ऐसी दवा होती है जिसमें लगभग सभी प्रकार की होम्योपैथिक दवा मिली होती हैं इसमें आपको सल्फर पेट्रोलियम इस तरह की सभी दवाई मिल जाती हैं

 अगर आपको लगातार चर्म रोगों की समस्या रहती है तो आप R82 दवाई का प्रयोग जरूर करें इस दवा को प्रयोग करने से आपकी सभी तरह के चर्म रोगों की समस्याएं नष्ट हो जाती हैं इसको लेने का भी तरीका बहुत सरल है इसको दिन में तीन बार एक कप पानी में 10 से 15 बूंदी मिलाकर खाली पेट लेना होते हैं इसके एक घंटा पहले और  एक घंटा बाद तक आपको कुछ भी नहीं खाना होता है अगर आप इस होम्योपैथिक दवा का उपयोग का चर्म रोग के इलाज में करते हैं और कोई बाहरी क्रीम भी इस्तेमाल करते हैं तो आपका फंगल इन्फेक्शन जल्दी ठीक हो जाता है  अर्थात चर्म रोग जल्दी ठीक हो जाता है इसलिए अगर आप चरम रोग से ग्रसित रहते हैं तो आपको होम्योपैथिक उपचार को जरूर अपनाना चाहिए

 अन्य चर्म रोग की होम्योपैथिक दवा

अब हम आपको चर्म रोग के अन्य होम्योपैथिक दवा के बारे में बताते हैं जो सिंगल डोज में आती हैं और  चर्म रोग में बहुत बढ़िया असर करती है

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ